Friday, January 30, 2009

सवाल

हर एक के सवाल का मैं, जवाब क्या देता ,
क्या और क्यों हूँ मैं, ये हिसाब क्या देता

जो कुछ पल के एहसास को , ना रख सके महफूज़,
मैं उनके हाथ , अपनी जिंदगी की डोर क्या देता

बदले जिनके रंग ,मौसम से भी पहले,
उनको अपनी चाहत का जाम क्या देता

जो छोर दिए मुझको, बना खुशी को मोहताज़ ,
उस रिश्ते को मैं, अपना नाम क्या देता

हर एक के सवाल का मैं, जवाब क्या देता

5 comments:

  1. kuch swal ap apna jwab hote hai........or kuch swalo ke jwab hote hi nahi.....

    ReplyDelete
  2. duniya mein har ek sawal ka par jawab jarur hota hai

    ReplyDelete
  3. This comment has been removed by the author.

    ReplyDelete
  4. kabhi kabhi,,khamoshi bhi bahut kuch keh jati hai..jawab dene ka jarurat hi nai padta

    ReplyDelete
  5. dnt u think khamoshi se fansle jyada lagne lagte hai...

    ReplyDelete